Top five Homeopathic Medicine for Ringworm (दाद के लिए होम्योपैथिक दवा)

Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी
July 20, 2022 0 Comments

Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी

अब सबसे पहले तो आप ये समझिये की रिंगवर्म क्या होता है और क्यूँ होता है? Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी

रिंग वर्म या दाद एक फंगल इन्फेक्शन है जिसको dermetophytosis or tinea के नाम से भी जानते है  ये बहुत ही आसानी से और कई तरीकों के माध्यम से फेल सकता है ये मिटटी से , जानवर से, या या इनके संपर्क में आने से मनुष्य को और मनुष्य से मनुष्य में भी फेल सकता है | Top five Homeopathic Medicine for Ringworm (टॉप 5 होम्योपैथिक मेडिसिन फॉर रिंगवर्म)  Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी

रिंग वर्म या फंगल इन्फेक्शन के लक्षण-Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी 

इसके लक्षणों में आपको खुजली , रेडनेस,और स्किन रेशेष या सर्कुलर यानि गोल रेशेष दिखाई पड़ते है   |

लगभग ४० से भी ज्यादा फंगी प्रजातियाँ है जो रिंगवर्म का कारण बनती है | जिनका scientific name tricofyton , microsporum और epidermophyton है

अब इसकी ज्यादा detaling न करते हुवे में आपको रिंगवर्म या दाद की टॉप 5 होम्योपैथिक मेडिसिन बताता हूँ जो रिंगवर्म या फंगल इन्फेक्शन को बिलकुल जड़ से ख़तम कर देगी |

Top five Homeopathic Medicine for Ringworm (टॉप 5 होम्योपैथिक मेडिसिन फॉर रिंगवर्म) Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी

तो सबसे पहली मेडिसिन है सीपिया:-

ese व्यक्ति जिनको अलग अलग जगह पर दाद होते है खुजली इतनी चलती है की जिनको खुजलाने से भी रहत नहीं मिलती कोहनियों और घुटने के मोड़ पर ज्यादा होती है | गर्मी से आराम मिलता हो और खुली हवा में जाने से समस्या बड जाती हो | एसे व्यक्ति जिनको हर बसंत ऋतू यानि स्प्रिंग season में यह समस्या बार बार होती है or jinko paseena bahut jyada aata hai ese व्यक्ति पर सीपिया मेडिसिन बहुत अच्छा काम करती है | Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी

sepia 30 ya 200 potency me le sakte hai. Iski Higher potency ka use nhin karna chahiye.or na hi ise baar baar lena chahiye . bina homeopathic visheshag ki salaah ke ye dawai na le.

Dusri ring worm ke liye best best  homeopathic medicine hai :-

 

Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी
Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी
Tellurium:-

ऐसे व्यक्ति जिनमें रिंगवर्म के लक्षणों का विकास बहुत धीरे धीरे होता है और ये लक्षण शरीर के बड़े हिस्से को कवर करते है यानि रिंगवर्म आपस में जुड़कर शरीर के बड़े हिस्से को कवर करते है eruptions की जगह clear margins easily दिखाई देती है ये eruptions पुरे शरीर पर, चहरे पर और पेरों के अंगूठे पर दिखाई दे सकता है | खुजली बहुत ज्यादा चलती है ठंडी हवा से खुजली और भी ज्यादा बड जाती है और चुभने जैसा दर्द होता है | इसे व्यक्तियों के लिए टेल्यूरियम मेडिसिन बहुत अच्छा काम करती है |

 

इसको आप 30 पोटेंसी से लेकर हायर पोटेंसी तक उपयोग कर सकते है 30 पोटेंसी को आप दिन में ३ बार उपयोग कर सकते है इसका असर देर से होता है लेकिन बहुत लम्बे समय तक इसका असर रहता है जो की रिंगवर्म को बिलकुल जड़ से खत्म कर देता है |

 

रिंगवर्म के लिए तीसरी बेस्ट होम्योपैथिक मेडिसिन है :-

Sulphur:-

दोस्तों सल्फर बहुत सरे स्किन के केस में दी जनि वाली मेडिसिन है ये रिंगवर्म या फंगल इन्फेक्शन के केस में भी बहुत अच्छा काम करती है और रिंगवर्म को बिलकुल जड़ से ख़त्म कर देती है ये उन्हें दी जाती है जिनको तेज खुजली चलती है और जलन होती है साथ ही खुजलाने की तीव्र इच्चा होती है जिससे स्किन पर खरोच आ जाती है लेकिन फिर भी व्यक्ति खुजलाता रहता है खुजालने से भी उसे कोई राहत नहीं मिलती है |  खुजली रात में बढ़ जाती है |

तेज खुजली और जलन के साथ ये रिंगवर्म स्कैल्प यानि खोपड़ी पर trunk यानि छाती , पीठ और पेट पर या चहरे पर दिखाई पड़ते है | इस तरह के लक्षणों वालें व्यक्तियों को अगर सल्फर दी जाये तो ये रिंगवर्म को बिलकुल जड़ से ख़त्म कर देती है |

सल्फर 30 पोटेंसी से लेकर हायर पोटेंसी तक दी जाती है इसके अच्छे रिजल्ट के लिए इसके dose को जल्दी जल्दी रिपीट नहीं करना चाहिए सल्फर को बहुत ही ध्यान से उपयोग करना चाहिए|  व्यक्ति की sensetivity के आधार पर ही इसकी हायर या lower पोटेंसी दी जाती है | क्रोनिक केस में 200 पोटेंसी से लेकर हायर पोटेंसी का उपयोग किया जाता है और ऐसे केस में जिन्होंने कोई other मेडिकेशन लेकर लक्षणों को दबा दिया हो तो वहां पर lower पोटेंसी का उपयोग करना चाहिए | कितनी बार उपयोग करें यह आपके शरीर की sensetivity पर निर्भर करता है इसलिए सल्फर का उपयोग हमेशा होम्योपैथिक विशेषज्ञ डॉक्टर के सलाह में रहकर ही उपयोग करें |

Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी

रिंग वर्म के लिए चौथी बेस्ट होम्योपैथिक मेडिसिन है :-
Psorinum:-

जिन लोगों को स्कैल्प यानि सिर में और जोड़ों के मोड़ पर दाद होते है उन्हें psorinum होम्योपैथिक मेडिसिन दी जाती है | बहुत ही तेज खुजली चलती है और गर्मी के कारण बिस्तर में खुजली बहुत तेज चलने लगती हो | सिर में रिंगवर्म होने के साथ ही बालों के झड़ने से सम्बंधित लक्षण मिलते हों | पुरे शरीर में दुर्गन्ध के साथ पसीना आता हो | साथ ही ठण्ड के प्रति बहुत ही ज्यादा sensetive हो गर्मी के मोसम में भी ठंडी हवा को सेहन नहीं कर सकता हो ऐसे व्यक्तियों में यदि रिंगवर्म मिलता है तो psorinum होम्योपैथिक मेडिसिन बहुत ही अच्छा काम करती है |Top five Homeopathic Medicine for Ringworm दाद के लिए होमियोपैथी

psorinum 200 potency या हायर पोटेंसी में लेनी चाहिए इस मेडिसिन का उपयोग बार बार नहीं करना चाहिए इसका एक्शन टाइम 9 दिन का होता है | यह छिपे हुवे eruption को एक बार में ही बाहर निकाल देती है

रिंग वर्म के लिए टॉप 5 होम्योपैथिक मेडिसिन में से पांचवी मेडिसिन है :-
Arsenic Album:-

जिन लोगों में सिर में रिंगवर्म होता है और साथ ही असहनीय itching यानि खुजली होती है सिर में बाल्ड स्पॉट मिलते हों यानि गंजे धब्बे मिलते हो | रफ़ एंड ड्राई स्किन देखने को मिलती है खुजली के साथ तेज जलन होती है | रात में खुजली और जलन बहुत ज्यादा परेशांन करती हो | ऐसे व्यक्तियों को आर्सेनिक एल्बम दी जाती है

आर्सेनिक एल्बम उन लोगो को दी जाती है जिनमें ज्यादा कमजोरी, तीव्र चिंता और अत्यधिक बैचेनी देखने को मिलती है| साथ ही व्यक्ति का नेचर एसा होता है की वो अपने आस पास साफ़ सफाई का बहुत ध्यान रखता है हर वस्तु को उसके प्रोपर प्लेस यानि उसके सही जगह पर रखता है व्यक्ति थोड़ी थोड़ी देर में थोडा थोडा सा पानी पिता है ऐसे व्यक्तियों को यदि आर्सेनिक एल्बम दी जाये तो उनकी समस्या जड़ से खतम हो जाती है |

आर्सेनिक एल्बम सभी क्षेत्रों में खुजली, जलन को कम करने में मदद करता है और गंजे धब्बों पर बालों को दोबारा उगाने में भी मदद करता है।

आर्सेनिक एल्बम lower पोटेंसी से हायर पोटेंसी तक यूज़ की जाती है बेटर रिजल्ट के लिए इसकी हायर पोटेंसी का यूज़ किया जाता है पेट एवं लीवर सम्बंधित्त समस्या के लिए lower पोटेंसी स्किन डिजीज में हायर पोटेंसी दी जाती है |

न्यूरोलॉजिकल डिजीज में इसकी हमेशा lower पोटेंसी का इस्तेमाल करें |

Best Homeoapthic Doctor Online
Best Homeoapthic Doctor Online

Homeopathic Dawai Lete Samay Dhyan Rakhe:-

दवाई लेते समय आपको किन किन बातों का ध्यान रखना है –

सबसे पहले तो आपको ये जानना जरुरी है की होम्योपैथिक मेडिसिन को बिना डॉक्टर की सलाह के न लें एसा इसीलिए की होम्योपैथिक ट्रीटमेंट Individualization पर निर्भर करता है यानि एक ही बीमारी के लिए अनेक ओषधियाँ होती है और ये सभी अलग अलग व्यक्ति के उसकी अपनी sensetivity, उसकी प्यास , उसका थर्मल रिलेशन, उसके मानसिक एव शारीरिक लक्षणों के वेरिएशन पर निर्भर करती है इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह के आप कैसे तय करेंगे की आपके शारीर के हिसाब से दवाई का कितना dose चाहिए और कितनी मात्रा में चाहिए और दवाई लेने का समय क्या होना चाहिए ? इसीलिए यदि आपको कोई समस्या है तो आप अपने आस पास किसी अच्छे होम्योपैथिक डॉक्टर से कंसल्ट करें जो की क्लासिकल तरीके से आपकी पूरी केस टेकिंग करें और केस हिस्ट्री के माध्यम से दवाई तैयार करके दे |

अगर आप किसी बेस्ट होम्योपैथिक डॉक्टर से ऑनलाइन उपचार लेना चाहते है और घर बैठे दवाई प्राप्त करना चाहते है  तो www.nigolifeline.com पर जाकर अपने बेस्ट डॉक्टर से अपनी समस्या हल कर सकते है |

आशा करता हूँ दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी दोस्तों होम्योपैथिक मेडिसिन और स्वास्थ्य को लेकर में नई नईं जानकारी लेकर आता रहता हूँ आप स्वास्थ्य से सम्बंधित इन जानकारियों को  अपने फ्रेंड्स और रिलेटिव के साथ शेयर कीजिये अगले विडियो में में फिर हाजिर होऊंगा तब तक के लिए मुझे दीजिये इजाजत | नमश्कार |

 

Pet me jalan Acidity ka Gharelu Elaaj Kaise karen

Home

Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *